भारत सरकार द्वारा मान्‍यता प्राप्‍त रामायण का पहला एपिसोड दूरदर्शन पर 24 जनवरी 1987 को प्रसारित किया गया था।

वर्ष 2003 में धार्मिक धारावाहिक के तौर पर रामायण का नाम लिम्‍का बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया।

जब रामायण के अहम पात्रों में से एक रावण की मृत्‍यु होती है तो उनकी भूमिका निभाने वाले कलाकार अरविंद त्रिवेदी के गांव में शोक मनाया गया था।




रामायण को बनाने में जब जूनियक कलाकारों की जरूरत पड़ती थी तो ढोल नगाड़े बजाकर गांव-गांव जाकर कलाकर भर्ती किए जाते थे।

रामायण करने के बाद अरुण गोविल ने नशीले पदार्थों शराब, सिगरेट और पान-मसाले का सेवन तक बंद कर दिया था।

5 महाद्वीपों में दिखाई गई रामायण को उस वक्‍त विश्‍व भर में 65 करोड़ से ज्‍यादा दर्शकों ने देखा था।




राम और लक्ष्‍मण यानी अरुण गोविल और सुनील लहरी मिलकर मुंबई में राम-लक्ष्‍मण प्रॉडक्‍शन हाउस के नाम से अपनी प्रॉडक्‍शन कंपनी चलाते हैं।

भगवान राम की भूमिका निभाने वाले अरुण गोविल को उस वक्‍त राजीव गांधी ने इलाहाबाद से कांग्रेस की सीट पर चुनाव लड़ने को कहा था, लेकिन उन्‍होंने यह कहकर इनकार कर दिया था कि ये मेरी भगवान राम की छवि को खराब करता है।

उस वक्‍त रामानंद सागर शूटिंग के दौरान रामायण की टीम के कुल 150 सदस्‍यों के लिए शाकाहारी खाना बनवाते थे।

उम्मीद है आपको इन तथ्यों को पढ़कर नयी जानकारी मिली होगी ।



Source: Google